Mahogany Farming – महोगनी की खेती से महज 12 साल में करोड़ो कमाएं, जानिए कैसे करें खेती, सम्पूर्ण जानकारी |

महोगनी की खेती कैसे करें ? Mahogany Farming – हमारे जीवन में वृक्षों का एक अलग ही महत्त्व है | अगर हमारी पृथ्वी से वृक्ष पूरी तरह से ख़त्म हो जाएँ तो पृथ्वी से मानव का आस्तिव ही मिट जायेगा | जब से पृथ्वी पर आया हुआ है तब से अपने किसी न किसी उपयोग के लिए पेड़ों का हिन् सहारा ले रहा है | पेड़ों से हमें छाया, फल, लकड़ी तथा औषधियां भी प्राप्त होती हैं | कुछ पेड़ ऐसे भी हैं जिनको लगाकर आज के समय के किसान काफी अच्छी आमदनी कमा सकते हैं |

Mahogany Farming

आज हम जिस वृक्ष के बारे में बात करने वाले है उस वृक्ष का नाम है महोगनी |

जी हाँ दोस्तों महोगनी एक ऐसा वृक्ष है जिसका उपयोग आज के समय में बहुत तेजी से हो रहा है इसका इस्तेमाल जहाज, कीमती गहनें, फर्नीचर, प्लाईवुड, सजावटी वस्तुए, मूर्तियाँ तथा इसका इतेमाल बहुत सी औषधियों और तेल तथा साबुन बनाने में भी किया जाता है | इस पेड़ के लिए ज्यादा पैसे और मेहनत की भी जरूरत नहीं होती है तथा इस पेड़ की हर एक चीज अच्छी कीमत बिक जाती है | इस पेड़ का पत्ती, तना, छाल के साथ-साथ बीज भी अच्छी कीमतों में बिक जाते हैं | इस पेड़ के खेती के लिए ज्यादा जमीन की जरूरत भोई नही होती है इसलिए इसको छोटे तथा सीमांत किसान आसानी से कर के बहुत अच्छा मुनाफा कमा सकते है | जो किसान यूके लिप्टस, सागौन तथा अन्य पेड़ लगाने की सोच रहे हैं हमारी यह सलाह होगी की आप महोगनी की खेती अवश्य करें क्यों कि आप अगर महिगनी की खेती करेंगे तो आप कम खर्च में ज्यादा मुनाफा कमा लेंगे |

भारत में सबसे ज्यादा बिकने वाले टॉप बेस्ट ट्रैक्टर(Best Tractor)की खासियत तथा कीमत

जानिए क्या है वर्टिकल फार्मिंग(Vertical Farming)और कैसे करें ? लाभ तथा प्रकार की सम्पूर्ण जानकरी |

कड़कनाथ पालन (Kadaknath Farming) कैसे करें सम्पूर्ण जानकरी |

मधुमक्खी पालन (Bee Keeping) कैसे करें ? मुनाफा, लागत, कमाई की संपूर्ण जानकारी |

मोती की खेती (Pearl Cultivation) कैसे करें ? लागत, कीमत सम्पूर्ण जानकारी |

महोगनी के पेड़ का उपयोग

महोगनी पेड़ अपने कई उपयोग के लिए प्रसिद्ध है | यह एक ऐसा पेड़ है जिसका एक भी ऐसा भाग नही होता है जो काम में न आए इसके ताने से लेकर पत्ती तक अच्छी कीमत में बिक जाती है | महोगनी के पेड़ की लकड़ी का उपयोग ज्यादातर जहाज बनाने में किया जाता है क्युकी इसकी लकड़ी पानी में ख़राब नही होती है | इसके साथ ही महोगनी की लकड़ी का उपयोग फर्नीचर, प्लाईवुड तथा मूर्तियाँ बनाने में किया जाता है | इसके छाल, फूल तथा बीजों का उपयोग का उपयोग बहुत शक्तिवर्धक औषधियों को बनाने में किया जाता है तथा इसके बीजों तथा छाल से तेल को भी निकला जाता है जिसका उपयोग मच्छरों को भागने वाले उत्पादों को बनाने में भी किया जाता है इसके साथ ही इसके तेल का उपयोग साबुन, तेल, ब्यूटी प्रोडक्ट, तथा पेंट को बनाने में भी किया जाता है | इसके छाल तथा पत्तियों तथा बीजों का उपयोग कई प्रकार के रोगों से लड़ने में सहायक होता है | इस पेड़ के इतने सारे उपयोग को देखते हुए इसको व्यापारिक़ उद्देश्य से ही उगाया जा रहा है क्यों की इसकी लकड़ी बहुत ही मजबूत तथा टिकाऊ होती है तथा इसके सभी भागों का उपयोग फैक्ट्रियों में कच्चे मॉल के तौर पर किया जा रहा है जिससे इसकी मांग और भी ज्यादा हो रही है | आप भी इस महोगनी पेड़ की खेती (Mahogany Farming) कर के ज्यादा मुनाफा कर सकते हैं |

महोगनी पेड़ की प्रमुख किसमें

महोगनी की खेती (Mahogany Farming) के लिए 5 किस्में ज्यादा प्रसिद्ध हैं जो कि निम्नलिखित हैं –

  1. क्यूबन
  2. मैक्सिकन
  3. अफ्रीकन
  4. न्यूज़ीलैंड
  5. होन्डूरन 

महोगनी की खेती (Mahogany Farming) कैसे करें

महोगनी के पेड़ की खेती (Mahogany Farming) किस स्थान पर कर सकते हैं

महोगनी के पेड़ की खेती (Mahogany Farming) उचे स्थानों को छोड़कर सभी स्थानों पर की जा सकती है जहाँ पर ज्यादा हवा न चलती हो क्योकि जहा पर ज्यादा हवाएं चलती है उस स्थान पर महोगनी की खेती (Mahogany Farming) करने से पेड़ के गिराने का खतरा होता है क्योकि इसके पेड़ की जड़ें बहुत नीचे तक नहीं जाती हैं | इसके पेड़ की लम्बाई 60 से 200 फिट तक होती है | इसके लिए किसी भी उपजाऊ मिट्टी की आवश्यकता होती है जिसका PH मान 6 से 7 हो तथा इसके पेड़ को जिस स्थान पर लगाये उस स्थान पर जल निकासी की अच्छी व्यवस्था अवश्य होनी चाहिए क्योंकि इसके पौधे पानी के ज्यादा होने से प्रभावित हो सकते हैं | इसके साथ यह भी ध्यान दें की इसको जिस स्थान पर लगाये वह जमीन पथरीली न हो |

महोगनी की खेती (Mahogany Farming) के लिए अनुकूल जलवायु

किसी भी प्राणी या फिर पौधे की अच्छे से वृद्धि के लिए वहां की जलवायु बहुत महत्वपूर्ण भूमिका निहती रहती है | महोगनी की खेती (Mahogany Farming) के लिए जलवायु की बात जाये तो इसके लिए उष्णकटिबंधीय जलवायु बहुत ही अच्छा माना जाता है | इसके लिए तापमान की बात की जाये तो इसके 15 से 35 डिग्री तापमान की आवश्यकता होती इस तापमान में यह अच्छे से वृद्धि करता है | जिस स्थान पर ज्यादा बारिस होती हो वहा इसकी खेती करना बहुत मुस्किल है क्यों कि इसके पेड़ ज्यादा पानी के कारण गिर सकते हैं |

महोगनी के पौधे की रोपाई के लिए सही समय

महोगनी के पौधे की रोपाई के लिए सबसे उपयुक्त समय जून तथा जुलाई का महिना होता है क्यों की इस समय मानसून भी का भी आगमन होता है तो महोगनी का पौधा अच्छे से वृद्धि कर लेता है |

महोगनी के नर्सरी

महोगनी की खेती (Mahogany Farming) के लिए नर्सरी किसी भी सरकारी पंजीकृत केंद्र से प्राप्त कर ले इसके साथ ही इसकी नर्सरी को भी तैयार की जा सकती है परन्तु इसकी नर्सरी को तैयार करने में बहुत लागत की जरूरत होती है | इसलिए नर्सरी केंद्र से ही नर्सरी लेना ज्यादा सही होता है |

Mahogany Farming

ऑनलाइन महोगनी के पेड़ को खरीदें

पौधे की रोपाई कैसे करें

इसके पौधे की रोपाई करने के लिए मई या जून के महीने में ही खेत को कई बारअच्छे तरह से जुताई कर ले तथा उसे पाटा लगाकर समतल कर लें | इसके बाद इसमें 4 से 6 फिट की दूरी पर 2 फीट चौड़े और 1 फिट गहरे गड्ढे बना लें तथा इसमें जैविक खाद तथा मिट्टी को साथ में मिलकर गड्ढे में डाल दें और सिचाई कर के ढक दें | इसको पौधे लगाने के लगभग एक महीने पहले ही तैयार कर लें |

महोगनी की खेती (Mahogany Farming) में समय

महोगनी की खेती (Mahogany Farming) करने वाले किसानों को धैर्य रखना होगा क्योकि महोगनी के पेड़ को विकसित होने में 12 साल का समय लगता है तथा इसको बेचने के लिए लगभग 15 से 20 साल का समय लगता है | परन्तु इसके इतने साल के धैर्य करने का फल बहुत मीठा होगा इसकी खेती से किसान करोड़ों कम सकते है | अगर एक किसान इसकी खेती सिर्फ १ एकड़ में की जाये तो 12 से 15 साल में ही करोड़ों कमाया जा सकता है जो की सायद अन्य किसी कृषि से कमाया जा सकता है |

महोगनी की खेती (Mahogany Farming) में सिचाई

इसको शुरू में ज्यादा सिचाई की आवश्यकता नहीं होती है | गर्मी के समय में 5 से 7 दिनों में करने की आवश्यकता होती है तथा सर्दियों में यही 10 से 15 दिनों में करने की आवश्यकता होती है जब पेड़ पूर्ण रूप से विकसित होता है तो इसकी सिचाई साल भर में सिर्फ 5 से 6 बार ही करने की आवश्यकता होती है |

महोगनी की खेती (Mahogany Farming) में रोग

महोगनी की खेती (Mahogany Farming) में कई प्रकार के रोग हो सकते हैं, जो पेड़ों को प्रभावित कर सकते हैं और पौधों की प्रदर्शनीयता को कम कर सकते हैं। निम्नलिखित कुछ प्रमुख महोगनी पेड़ों के रोग हैं:

अंतक्रिया रोग (Anthracnose):- इस रोग में पेड़ों की पत्तियों पर काले या भूरे दाग बनते हैं, जिनमें से बाद में छाल उतर सकती है। इसे बचाव के लिए बुआई के साथ फंगिसाइड स्प्रे का उपयोग किया जा सकता है।

महोगनी नक्षत्रक (Mahogany Scale):- इसके परिणामस्वरूप, पेड़ों की पत्तियों पर छोटे सियाह पुष्प जैसे कीटक होते हैं, जो पौधों के आहार को छूकर कम कर सकते हैं। इसके खिलाफ कीटनाशकों का उपयोग किया जा सकता है।

महोगनी पॉवडर मील्ड्यू (Mahogany Powder Mildew):- इस रोग में पेड़ों की पत्तियों पर सफेद प्रकार की प्रदर्शनीयता होती है, जिसमें बाद में धूलीदार सफेद पदार्थ की अंशुलिपि हो सकती है। इसके उपचार के लिए फंगिसाइड स्प्रे का उपयोग किया जा सकता है।

रूट रोट (Root Rot):- यह रोग महोगनी के पेड़ों की जड़ों को प्रभावित कर सकता है, जिससे पौधों का पोषण कम हो सकता है। इसके बचाव के लिए सुथरी ड्रेनेज वाले मिट्टी का उपयोग करना महत्वपूर्ण है और पानी की सही मात्रा की निगरानी करनी चाहिए।

महोगनी लीफ माइनर (Mahogany Leaf Miner):- इस कीटक के लार्वे पेड़ों की पत्तियों के अंदर छोटे से गोल खुदाई करते हैं, जिससे पत्तियों पर ख़ारोख़ारी चिन्ह दिखाई देते हैं। इसे बाजार में मिलने वाले कीटनाशक से नियंत्रित किया जा सकता है।

महोगनी की खेती (Mahogany Farming) में रोगों को नियंत्रण करने के लिए आप जिस सरकारी केंद्र से नर्सरी ले उसी केंद्र से किसी अच्छे अनुभवी विशेषज्ञो की सलग ले | इससे आप अपने महोगनी की खेती (Mahogany Farming) में रोग नियंत्रण करने में सहायता मिलेगी तथा आपको भारी नुकसान को नही सहना पढ़ेगा |

इसकी खेती के लिए लागत तथा मुनाफा

महोगनी की खेती (Mahogany Farming) में लागत की बात की जाये तो इसका एक पौधा आपको लगभग लगभग 100 से 150 रुपये का पड़ता है अतः एक एकड़ की खेती करने में 1 से 1.5 लाख की लागत आएगी तथा बाद में इसकी सिचाई करनी होगी जिसमें बहुत कम लगत आएगी |

अगर इसके मुनाफे की बात की जाये तो इसके लकड़ी की बाजार में थोक कीमत 2000 से 2300 रुपये प्रति घन फीट है तथा इसके बीज की कीमत 1000 रुपये प्रति किलोग्राम होती है | इसके पौधे की छाल, तना, पत्ती, बीज तथा फूल भी बिक जाते हैं | इसकी खेती एक एकड़ में करने से आपको 12 से 15 साल में लगभग करोड़ों रुपये कमा सकते है | बाजार में इसकी कीमत के साथ-साथ इसकी भारी मात्रा में डिमांड भी बढ़ रही है क्यों कि इससे बनने वाले उत्पादों की मांग में बाजारों में बहुत अधिक बढ़ोत्तरी हो रही है | इसलिए महोगनी की खेती (Mahogany Farming) पर भी जोर दिया जा रहा है |

आपको यह हमारी ब्लॉग कैसा लगा कमेन्ट में जरूर बताएं तथा अन्य आधुनिक कृषि से सम्बंधित ब्लॉग के लिए हमारी वेबसाइट पर जरूर विजिट करें | धन्यवाद !