Kadaknath Farming in Hindi- कड़कनाथ पालन कैसे करें, सम्पूर्ण जानकरी |

विज्ञान कहता है कि इस संसार में एक जीव दूसरे जीव पर किसी न किसी रूप से आश्रित है | मनुष्य बहुत से जीवों का इसतेमाल अपने कार्य को सरल बनाने में शुरू से ही करते आ रहे हैं तथा कुछ जीवों को खाने के रूप में इस्तेमाल करते हैं | इसी प्रकार आज हम एक ऐसे जीव के बारे में आपको बताने वाले हैं जिसका इस्तेमाल हम खाने में करते हैं |

Kadaknath Farming in Hindi

आज हम कड़कनाथ पालन (Kadaknath Farming in Hindi) के बारे में बात करने वाले हैं | इस समय पर कड़कनाथ मुर्गा बहुत चर्चा का विषय बना हुआ है | अब लोग इसके बारे में जानना चाहते हैं की कड़कनाथ मुर्गा और इसका अंडा कैसा होता है और ये अन्य मुर्गे और अंडे के मुकाबले ज्यादा महंगा क्यों है ? सबको इसके बारे में जानने की इच्छा हो रही है और साथ में यह भी जिज्ञासा है की इसको कैसे पालें | आपके सारे सवालों का जवाब इस पोस्ट के माध्यम से देने का प्रयास किया गया है |

मधुमक्खी पालन (Bee Keeping) कैसे करें ? मुनाफा, लागत, कमाई की संपूर्ण जानकारी |

Crab Farming – केकड़ा पालन शुरू कीजिये | लागत कम और मुनाफा ज्यादा |

Mahogany Farming – महोगनी की खेती कैसे करें सम्पूर्ण जानकारी |

जानिए क्या है वर्टिकल फार्मिंग(Vertical Farming)और कैसे करें ? लाभ तथा प्रकार की सम्पूर्ण जानकरी |

कड़कनाथ मुर्गी क्या है ?

Kadaknath Farming

कड़कनाथ एक मुर्गे की ही प्रजाति है | इसका वैज्ञानिक नाम Gallus gallus domesticus है | जिसको कई नामों से जाना जाता है इसे ब्लैक चिकन, ब्लैक हेन, काली मासी , आदिवासी मुर्गी , बासरी मुर्गी , कसार मुर्गी आदि नामों से जाना जाता है | इसके शरीर के साथ-साथ इसका खून और मांस भी कला होता है | इसके अंडे देखने में सुनहरे होते हैं परन्तु उसमें अन्य अण्डों के मुकाबले कई गुना ज्यादा मात्र में प्रोटीन पाया जाता है |

कड़कनाथ मुर्गी का एक अंडा मार्केट में मिलाने वाले नार्मल 4 से 5 अन्डो के बराबर होता है | इसमें अन्य अण्डों के मुकाबले बहुत कम मात्र में कोलेस्ट्रोल और वसा पाया जाता है जो कि बहुत फायदेमंद है | इसके अंडे में अन्इय अंडे की तरह गंध भी नही आती है इसका मांस भी काला होने के साथ इसमे भी नार्मल चिकन के मुकाबले बहुत अधिक मात्रा में प्रोटीन पाया जाता है और वासा बहुत कम मात्रा में पाया जाता है |

Kadaknath Farming

इसको खाने से स्वास्थ्य से जुड़े कई फायदे होते है इसकी खूबियों के कारण इसकी बाजार में बहुत मांग रहती है | इसमे अधिक गुणवत्ता पाए जाने के कारण ये मार्केट में काफी महंगा भी मिलाता है | इसको भारत में अधिक मुनाफे के कारण ग्रामीण गरीबों और आदिवासियों के द्वारा ज्यादा पला जा रहा है |

इसकी गुणवत्ता और बाजार में अधिक कीमत के कारण भारतीय क्रिकेट टीम के प्रसिद्ध खिलाड़ी महेंद्र सिंह धोनी ने भी इसका पालन कराये हुए हैं जिससे उन्हें काफी अच्छी आमदनी होती है | अगर आप भी पोल्ट्री फार्म खोलना चाहते हैं तो मेरी सलाह रहेगी की आप कड़कनाथ पालन (Kadaknath Farming in Hindi) करें | जिससे आपको अच्छी आमदनी होगी |

कड़कनाथ मुर्गी की उत्पप्ति

कड़कनाथ एक नई नस्ल है जो की भारत के मध्य प्रदेश के झाबुआ जिले के काठिवाडा और अलीराज पुर के जंगलों में हुई | इसके वजह से मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ के बीच जी आई टैग को लेने के लिए विवाद चल रहा था, अंत में मध्यप्रदेश को यह टैग दे दिया गया | जी आई टैग का एक खास तरह की पहचान है इससे यह पता चलता है की इसके जैसे और कोई नही है |

भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान भी कर रहे कड़कनाथ पालन (Kadaknath Farming in Hindi)

हमारे देश के होनहार खिलाडी और पूर्व कप्तान भी कड़कनाथ पालन कर रहें हैं | धोनी जी को क्रिकेट के साथ-साथ कृषि में भी काफी रुचि है वो अपनी कड़कनाथ पालन (Kadaknath Farming in Hindi)में भी लगायी जिससे उन्हें अच्छी सफ़लता मिली | उन्होंने मध्य प्रदेश के झाबुआ के प्रसिद्ध कड़कनाथ के 2000 चूजे मगवाये थे | जिसको पालने के बाद उन्हें अच्छी अमादानी मिली | इनके फार्म में तैयार हुए अंडे आपको रांची के बाजार में मिल जायेंगे | धोनी जी को कड़कनाथ को पालने की सलाह मध्य प्रदेश झाबुआ के कलेक्टर सोमेश मिश्रा ने दी |

जैविक खाद (Organic Fertilizer) क्या है | बनाने की विधि लागत , कीमत , लाभ व हानि सम्पूर्ण जानकारी |

कड़कनाथ के अण्डों और मांस का स्वाद

कड़कनाथ के अंडे काफी स्वादिष्ट होते हैं इसमे बिल्कुल भी अन्य अन्डो की तरह गंध नहीं पाई जाती है | कड़कनाथ मुर्गी के मांस का स्वाद तेल की अन्य मुर्गी ब्रीड के मांस की तुलना में अधिक गहरा हो सकता है। यह मांस थोड़ा मजबूत और ज़रा कड़क हो सकता है। जिनको अन्य अंडे खाने में गंध सी आती है वो इसके अंडे खा सकते है जिससे उनको काफी अच्छी मात्रा में प्रोटीन भी मिलाता रहेगा |

कड़कनाथ के अंडे और मुर्गे की कीमत

कड़कनाथ के अंडे मार्किट में आमतौर पर 30 से 60 रुपये में आपको मार्किट में मिल जायेगा | इसके मांस के वसा और कोलेस्ट्रोल की काफी कम मात्रा में पाया जाने के कारण ये लगभग 800 से 1200 रुपये के बीच में मिलेगा | हो सकता है की ये आपको हर जगह न भी मिल पाए क्यों की अभी इसके बारे में बहुत कम लोग इसको पाल रहे हैं क्यों की ये एक नयी प्रजाति है |

कड़कनाथ पालन (Kadaknath Farming in Hindi) के लिए सरकारी योजनायें

कड़कनाथ पालन (Kadaknath Farming in Hindi) के हमारी भारत सरकार भी सहायता कर रही है | मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ की सरकार इसको पालने के लिए लोगो को प्रोत्साहित कर रही है और मात्र 50 से 60 हजार में 1000 चूजों के साथ में उनके 6 माह के खाने का भी प्रबंध भी सरकार ही करेगी | जिसमे और अधिक मुनाफा बी होगा | साथ ही साथ इसके तैयार होने के बाद सरकार ही इसकी कीमत भी देगी |

लोन और सब्सिडी

भारत की पशुधन मिशन और नाबार्ड के पोल्ट्री वेंचर कैपिटल फंड के तहत आप लोन तथा सब्सिडी के लाभ ले सकते हैं जिसमे अलग अलग श्रेणी के लोगो के लिए अलग अलग योजना है | इसमे सामान्य श्रेणी के लोगों के लिए 25 प्रतिशत और बी पी एल , अनुसूचित जाति के लोगो के लिए लगभग 33 प्रतिशत की सब्सिडी की व्यवस्था सरकार द्वारा की गयी है |

कड़कनाथ पालन (Kadaknath Farming in Hindi) कैसे करें ?

अगर आप कड़कनाथ पालन (Kadaknath Farming in Hindi) करना चाहते हैं तो बता दें की जिस तरीके से सामान्य पोल्ट्री फार्म में मुर्गियों का पालन होता है ठीक उसी प्रकार ही कड़कनाथ पालन (Kadaknath Farming) भी किया जाता है | इसके खाने पीने में भी अधिक खर्च नही होगा ये हरे चारे बरसीम , अनाज के साथ भी अपनी अच्छी शारीरिक वृद्धि कर लेते हैं |

शुरुआत में आपको अपने नजदीकी कृषि विज्ञान केंद्र से संपर्क कर के कुछ कम ही चूजे लायें | अगर आपके आस पास कही पर कड़कनाथ पालन (Kadaknath Farming in Hindi) होती हो तो आप व्यवहारिक रूप से मुर्गी पालक से मिलें और कुछ जानकरी प्राप्त करें | कड़कनाथ पालन (Kadaknath Farming in Hindi) के लिए आपको कुछ बिंदु दिए गए हैं |

1. स्थान का चयन :- कड़कनाथ पालन (Kadaknath Farming) के लिए आपको नार्मल मुर्गी पालन की तरह ही स्थान का चयन करना चाहिए | एक मुर्गी के लिए कम से कम 1.5 वर्ग फुट की आवश्यकता होती है इसी प्रकार आप अपने मुर्गियों की संख्या के अनुसार अनुमान लगा सकते हैं | इसके लिए पानी की काफी मात्र चाहिए होती है इसलिए ऐसी जगह का चयन करे जहा पर पानी काफी मात्रा में उपलब्ध हो | चयनित स्थान पर ही टिन सेट या फिर पोल्ट्री फार्म तैयार कर लें |

2. चूजे कहाँ से लायें :- आपको कड़कनाथ के चूजे के लिए अपने नजदीकी कृषि विज्ञानं केंद्र से संपर्क कर लें या फिर किसी जानकर व्यवसायी से संपर्क कर लें | अगर आप मध्य प्रदेश या छत्तीसगढ़ राज्य में रहते हैं तो मध्य प्रदेश के झाबुआ में कड़कनाथ के चूजे बहुत प्रसिद्ध हैं आप वहा से भी मगा सकते हैं |

कड़कनाथ के चूजे ऑनलाइन खरीदने के लिए क्लिक करें

3. खाद्य सामग्री :- कड़कनाथ के लिए कोई विशेष खाद्य सामग्री की आवश्यकता नही होती है | इनकी खाद्य सामग्री में प्रोटीन और कार्बोहाइड्रेट वाले अगर देने चाहिए | जैसे की मक्का , चावल ,चोकर ,चिनियाबदम , मछली का चूरा हड्डी का चूर्ण नमक सरसों की खली आदि |

कड़कनाथ पालन (Kadaknath Farming) के लिए कुछ महत्त्व पूर्ण बिंदु :- मुर्गियों के स्वास्थ्य को अच्छा रखने के लिए कुछ मगत्व्पूर्ण बिंदु दिए गए हैं जिनको पढ़ें –

  1. अपने फार्म पर आवश्यकतानुसार कर्मचारी रखें |
  2. समयानुसार खाना पानी डालें |
  3. फार्म को थोड़ा ऊपर रखें जिससे भरिस का पानी न आने पाए |
  4. फार्म के चारी ओर जली या मच्छरदानी लगा दे जिससे फार्म में कोई जंतु न प्रवेश कर सके |
  5. समय समय पर वैक्सीनेशन कराये |
  6. फार्म में रोशनी की अच्छी व्यवस्था
तैयार कितने दिन में होगा

कड़कनाथ को तैयार होने में लगभग 6 से 8 महीने में लगता है जिसमें ये मुर्गी लगभग एक से ढेढ़ किलो की हो जाएगी जबकि नार्मल मुर्गी को तैयार होने में लगभग 3 से 4 महीने ही लगते हैं |

कड़कनाथ पालन (Kadaknath Farming) के फायदे

कड़कनाथ पालन (Kadaknath Farming) के बहुत से फायदे हैं | इसकी मार्केट में ज्यादा डिमांड भी है और यह महंगा भी मिलाता है | इसमें औषधीय गुण पाए जाते हैं इस कारण इसे लोग खरीदते भी ज्यादा हैं | इसमे अन्य मुर्गियों के मुकाबले अधिक मात्रा में प्रतिरोधक क्षमता में पायी जाती है | इसका मांस डायबटीज, कैंसर और ह्रदय वाले रोगियों के लिए अधिक फायदे मंद है |

कड़कनाथ मुर्गी पालन में लागत और मुनाफा

कड़कनाथ (Kadaknath Farming) पालन में आपको सामान्य मुर्गी से अधिक मुनाफा होगा | आप इसके चूजे भी बेच कर अच्छा मुनाफा कमा सकते हैं | इसके चूजे की कीमत 70 से 100 रुपये तक होती है | इसके अंडे की कीमत 30 से 60 रुपये तक होती है | और इसके मांस की कीमत 800 से 1200 रुपये प्रति किलो तक होती है | अब से आप पर निर्भर करता है की आप अंडे बेचते हैं की मुर्गी की आप तीनो बेचेते हैंअगर आप 500 मुर्गी लाते हैं तो उसमे लगभग 80 से 90 हजार का खर्च आएगा औरयही मुनाफे की बात की जाये तो लगभग 2 लाख तक मुनाफा होगा |

कड़कनाथ पालन (Kadaknath Farming) का पंजीकरण

अगर आप कड़कनाथ पालन करना Kadaknath Farming) चाहतें हैं तो आप अपने फार्म का मिनिस्ट्री आफ माइक्रो , स्माल एंड मीडियम इंटरप्राइजेज के द्वारा रजिस्ट्रेशन करा लें | इससे आपको सरकारी लाभ लेने में ज्यादा कठिनाइयों का सामना नही करना पड़ेगा |

19 thoughts on “Kadaknath Farming in Hindi- कड़कनाथ पालन कैसे करें, सम्पूर्ण जानकरी |”

  1. कड़कनाथ मुर्गी का अंडा अत्यधिक स्वादिष्ट होता है।

    Reply

Leave a Comment