Hop Shoots ki kheti- हॉप शूट्स की खेती से किसान कमा रहे करोड़ों, विश्व की सबसे महँगी खेती

Hop Shoots ki kheti- दुनिया की सबसे महँगी सब्जी है हॉप शूट्स | खेती के बारे में विस्तार पूर्वक जानकारी |

हॉप शूट्स के बारे में जानकारी

हॉप शूट्स एक सब्जी है तथा यह एक औषधि पौधा भी है | इसका उपयोग ज्यादातर सब्जी बनाने में की जाती है | यह मात्र एक ऐसी सब्जी है जो की पूरी विश्व में सबसे अधिक महंगी है | हॉप शूट्स का आकार शंक्वाकार होता है यह खाने में बहुत ही कड़वा आता है |

इसका उपयोग सब्जी के रूप में किया जाता है तथा इसके टहनियां का इस्तेमाल सलाद के रूप में भी किया जाता है | हॉप शूट्स के पौधे की जड़े दो से तीन मीटर गहराई तक जाती हैं | हॉप शूट्स का इस्तेमाल बहुत से महँगे-महँगे पदार्थों को बनाने में किया जाता है इसके अलावा हॉप शूट्स का उपयोग बियर तथा कुछ सौंदर्य पदार्थों को बनाने में भी किया जाता है |

दोस्तों आपको बता दे कि इस सब्जी के गुणों का पता लगभग 1800 ई में चला था | इसका उपयोग ब्रिटेन में सबसे पहले बियर का स्वाद बढ़ाने के लिए किया जाता था | सबसे पहले हॉप शूट्स की खेती (Hop Shoots ki kheti) उत्तरी जर्मनी के किसानों ने शुरू की थी | आज के समय में इसका उपयोग दुनिया के कई विकसित देश जैसे कि अमेरिका कनाडा मेक्सिको आस्ट्रेलिया यूरोप न्यू तथा बहुत से यूरोपीय देश इसके उपयोग के साथ इसका उत्पादन भी कर रहे हैं |

इसे भी पढ़ें- Satavar ki kheti- सतावर की खेती से कमाए 10 लाख प्रति एकड़

हॉप शूट्स के फायदे

दोस्तों हॉप शूट्स ऐसे ही नहीं महंगा है इसकी बहुत से औषधि गुण भी हैं जो कि इसके महंगे होने का कारण है तो आईए जानते हैं कि हॉप शूट्स के क्या-क्या फायदे है-

  1. हॉप शूट्स का इस्तेमाल दांत के दर्द को कम करने के लिए किया जाता है |
  2. हॉप शूट्स का इस्तेमाल टीवी के इलाज में किया जाता है |
  3. हॉप शूट्स का इस्तेमाल कैंसर जैसी भयानक बीमारी के इलाज में भी किया जाता है |
  4. हॉप शूट्स में बहुत ज्यादा मात्रा में एंटीबायोटिक मौजूद होता है जो कि हमारे शरीर के लिए बहुत फायदेमंद होता है |

हॉटस्पॉट की खेती (Hop Shoots ki kheti) कैसे करें

हाफ सूट्स एक सदाबहार फसल है जिसकी खेती बारहों महीने की जा सकती है | हॉप शूट्स की खेती (Hop Shoots ki kheti) के लिए सर्दी का मौसम अच्छा होता | इसकी खेती के लिए सूर्य की रोशनी और अधिक नमी की आवश्यकता होती है | बिहार के औरंगाबाद जिले के अमरेश सिंह ने इसकी खेती शुरू की जो कि पहले भारतीय किसान है |

आपको बता दे कि उनकी खेती लगभग 60% तक सफल हुई है | हॉप शूट्स की खेती (Hop Shoots ki kheti) से हमारे भारतीय किसान बहुत ही अच्छा मुनाफा कमा सकते हैं | आईए जानते हैं कि हॉप शूट्स की खेती करने के लिए किन-किन बिंदुओं पर ध्यान देना होगा |

Hop Shoots ki kheti

हॉप शूट्स की खेती में उपयुक्त मिट्टी

दोस्तों किसी भी खेती को करने के लिए मृदा की उपज क्षमता बहुत ही महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है | इस प्रकार हॉप शूट्स की खेती (Hop Shoots ki kheti) करने में उपजाऊ रेतीली मिट्टी दोमट मिट्टी एवं चिकनी मिट्टी सबसे उपयुक्त मानी जाती है तथा हॉप शूट्स की खेती में उपयोग होने वाली भूमि का पीएच मान 6 से 7 के बीच होना जरूरी है तथा जिस भूमि में हॉप शूट्स की खेती करें उसमें अच्छी जल निकास की आवश्यकता होती है |

इसे भी पढ़ें- Adarak ki kheti- अदरक की खेती कैसे करें | कमाई तथा लागत

उपयुक्त जलवायु

हॉप शूट्स की खेती (Hop Shoots ki kheti) अधिकतर ठन्डे प्रदेशों में की जाती थी | बिहार में इसी खेती की गई परंतु उसमें लगभग 60% का ही मुनाफा होगा इसकी खेती के लिए 19 डिग्री से 25 डिग्री तापमान की आवश्यकता होती है | हॉप शूट्स की खेती भारत के हिमाचल प्रदेश जम्मू कश्मीर की जलवायु इसके लिए उपयुक्त है |

हॉप शूट्स की रोपाई तथा सिंचाई

हॉप शूट्स के पौधों की रोपाई बीज के द्वारा नहीं बल्कि कन्द द्वारा की जाती है | इसका पौधा लौकी कद्दू की तरह जमीन पर फैलता है | जिस कारण इसे फैलने के लिए तारों या फिर जल का सहारा लिया जाता है तथा पौधे से पौधे की बीच की दूरी 5 से 10 फीट रखी जाती है |

हॉप शूट्स की सिंचाई की बात की जाए तो इसके पौधे में अधिक नमी की आवश्यकता होती है इसलिए इसकी सिंचाई 10 से 15 दिन में करें तथा आवश्यकता पड़ने पर इसे उचित मात्रा में पानी अवश्य दें | ध्यान रहे की खेत में ज्यादा पानी न भरने पाए |

हॉप शूट्स की खेती में उर्वरक

हॉप शूट्स की खेती (Hop Shoots ki kheti) में खाद या उर्वरक की बात की जाए तो इसकी खेती ज्यादातर जैविक होती है परंतु अच्छी उपज और पैदावार के लिए जैविक खाद के साथ रासायनिक उर्वरक जैसे कि सुपर फास्फेट और पोटाश की उचित मात्रा खेत में डालनी चाहिए |

कटाई

हॉप शूट्स की फसल की कटाई अगस्त से सितंबर महीने में होती है | इसकी फसल जब पीले रंग की देखने लगे तो इसकी कटाई की जाती है तथा हॉप शूट्स को काटने के बाद 30 से 35 डिग्री तापमान पर सुखना होता है |

हॉप शूट्स की खेती में कमाई

हॉप शूट्स की खेती (Hop Shoots ki kheti) में कमाई की बात की जाए तो एक एकड़ हाफ सूट्स की खेती में लगभग 400 से 700 किलोग्राम का उत्पादन मिल जाता है जो कि भारत में हो सकता है कम मिले | इसकी कीमत की बात की जाए तो ₹90000 से ₹100000 प्रति किलो की दर से बिकता है |

4 thoughts on “Hop Shoots ki kheti- हॉप शूट्स की खेती से किसान कमा रहे करोड़ों, विश्व की सबसे महँगी खेती”

Leave a Comment